UP में चाइल्ड पोर्नोग्राफी मामला: सिंचाई विभाग के जेई व पत्नी के खिलाफ CBI ने 700 पन्ने की चार्जशीट दाखिल की, 50 बच्चों से शोषण के आरोप में हुए थे गिरफ्तार

40


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लखनऊ5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

सिंचाई विभाग के निलंबित जेई रामभवन के मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) की टीम ने गिरफ्तारी के 88वें दिन बाद चार्जशीट दाखिल कर दी है।

  • CBI टीम ने 17 नवंबर 2020 को सिंचाई विभाग के जूनियर इंजीनियर को किया गया था गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जिले में करीब 50 बच्चों के यौन शोषण के आरोपी सिंचाई विभाग के निलंबित जेई रामभवन के मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) की टीम ने गिरफ्तारी के 88वें दिन बाद चार्जशीट दाखिल कर दी है। आरोपी इंजीनियर और उसकी पत्नी दुर्गावती के खिलाफ CBI ने 700 पन्नों की चार्जशीट दाखिल करते हुए पूरे मामले में मेडिकल रिपोर्ट और बच्चों के बयानों को आधार बनाया है। CBI टीम ने 17 नवंबर 2020 को सिंचाई विभाग के जूनियर इंजीनियर को गिरफ्तार किया था।

CBI की टीम ने बीते 7 सालों से चित्रकूट और बांदा में चाइल्ड पोर्नोग्राफी के मामले में सीबीआई की टीम ने 4 से 42 साल तक के उम्र के लोगों के बयान दर्ज कराएं हैं। सभी का मेडिकल परीक्षण के साथ डिजिटल एविडेंस को कनेक्ट किया गया हैं। इसके अलावा एम्स के डॉक्टरों के पैनल ने चित्रकूट व बांदा के आस पास के करीब 17 बच्चों का मेडिकल परीक्षण किया, जिसकी रिपोर्ट में भी कई साक्ष्य मिले हैं।

क्या था पूरा मामला
50 से ज्यादा बच्चों के साथ यौन शोषण करने व अश्लील वीडियो बनाने वाला आरोपी जूनियर इंजीनियर रामभवन पिछले 7 वर्षों से चित्रकूट के SDM कॉलोनी में रह रहा था। बताया जा रहा है कि आरोपी इंजीनियर बच्चों को खिलौने, मोबाइल फोन और इलेक्ट्रॉनिक गैजेट का लालच देकर उनका यौन शोषण करता था। वह बच्चों की फोटो और अश्लील वीडियो बनाकर डार्क साइट्स पर अपलोड करता था।

50 बच्चों के यौन शोषण के आरोप में CBI ने 17 नवंबर 2020 मंगलवार को सिंचाई विभाग के जूनियर इंजीनियर को गिरफ्तार किया था। आरोपी जूनियर इंजीनियर के पास से आठ लाख की नकदी, लैपटॉप और चाइल्ड सेक्स की सामग्री बरामद हुई थी। जूनियर इंजीनियर ने चित्रकूट, बांदा और हमीरपुर जिले में बच्चों का यौन शोषण किया था।

मोबाइल का लालच देकर बच्चों को बुलाता था घर
जेई की गिरफ्तारी के बाद एक बच्चे ने बताया था कि, आरोपी रामभवन बच्चों को मोबाइल फोन में गेम खेलने और यूट्यूब पर वीडियो दिखाने का लालच देकर उसे अपने घर बुलाता था। किसी को टॉफी देना किसी को टीवी लैपटॉप जैसे इलेक्ट्रॉनिक सामानों का लालच दिखाकर बच्चों का यौन शोषण करता था।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here