UP में कानून व्यवस्था ताक पर: जमीन पर कब्जा कराने पहुंची पुलिस टीम पर पथराव, ग्रामीणों ने लाठी-डंडा लेकर दौड़ाया; 3 सिपाही समेत 9 घायल

33


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कुशीनगर18 दिन पहले

यह फोटो कुशीनगर की है। यहां मंगलवार की दोपहर पुलिस टीम पर हमला किया गया।

  • बरवा पट्टी थाना क्षेत्र के अमवादिगर गांव का मामला
  • तीन थाना क्षेत्र की फोर्स मौके पर तैनात, आरोपियों की धरपकड़ जारी

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में मंगलवार को जमीनी विवाद में दो गुटों के बीच जमकर लाठी-डंडे चले। सूचना पाकर पहुंची पुलिस टीम पर एक पक्ष ने पथराव कर दिया। ग्रामीणों ने पुलिस पर रिश्वतखोरी कर जमीन पर दूसरे पक्ष को कब्जा कराने का आरोप लगाया है। पुलिस की पिटाई से 6 ग्रामीण घायल हुए तो पथराव में तीन सिपाही भी घायल हुए हैं। तीन थाना क्षेत्रों की पुलिस फोर्स ने मौके पर पहुंचकर हालात पर काबू पाया है। यह मामला बरवा पट्टी के अमवादिगर गांव का का है।

पुलिस ने अपने कदम पीछे हटाकर खुद को बचाया।

कोर्ट ने अवैध कब्जा रोकने का दिया था आदेश

पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार ने बताया कि अमवादिगर गांव में दो पक्षों के बीच जमीन का विवाद था। मामला सिविल कोर्ट में है। कोर्ट ने जमीन पर अवैध कब्जे को रोकने का आदेश दिया था। इसी आदेश के अनुपालन में मंगलवार को पुलिस मौके पर पहुंची थी। जहां विपक्षी ग्रामीणों ने पुलिस के साथ झड़प करना शुरू कर दिया। पुलिस ने शांति व्यवस्था कायम करने के लिए हल्का बल प्रयोग किया तो ग्रामीण हमलावर हो गए। ग्रामीणों ने पुलिस टीम पर पथराव कर दिया और लाठी-डंडे लेकर दौड़ा लिया। इसका एक वीडियो भी सामने आया है। पथराव में तीन पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। जिन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

ग्रामीणों ने पुलिस टीम को दौड़ाया।

ग्रामीणों ने पुलिस टीम को दौड़ाया।

ग्रामीणों ने कहा- बिना राजस्व टीम के आई थी पुलिस

वहीं, ग्रामीणों का कहना है कि पुलिस टीम बिना किसी राजस्व टीम के जमीन विवाद को सुलझाने पहुंची थी। ग्रामीणों ने पुलिस पर रिश्वतखोरी का भी आरोप लगाया। पुलिस ने ग्रामीणों को पीटा है। जिसमें छह लोग घायल हुए हैं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here