सौगात: वाराणसी – केवड़िया एक्सप्रेस ट्रेन की LHB रैंक कैंट स्टेशन पहुंचा, 16 जनवरी को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये PM मोदी दिखा सकते हरी झंडी

37


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वाराणसी8 दिन पहले

गुजरात के केवड़िया में लौह पुरुष की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा का दर्शन कराएगी। काशी से गुजरात को कई शहरों को ट्रेन जोड़ेगी।

  • दीनदयालु कोच के जनरल बोगिययों में मोबाइल चार्जिंग की सुविधा मिलेगी

PM मोदी 16 जनवरी को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये गुजरात और वाराणसी को जोड़ते हुए काशी – केवड़िया एक्सप्रेस ट्रेन को हरी झंडी दिखा सकते है। कैंट स्टेशन पर रैक पहुंच चुका है। तमाम नये फीचर जनरल डिब्बे दीनदयालु कोच में यात्रियों को मिलेंगे।

कपूरथला रेल कोच फैक्ट्री में निर्मित 20 बागियों का रैंक पहुंचा

एडीआरएम आरपी चतुर्वेदी ने बताया ऑफिशियल डेट अभी नही आया है। PM मोदी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये हरी झंडी दिखाएंगे। दुनियां की सबसे ऊंची प्रतिमा सरदार वल्लभ भाई पटेल की स्टैच्यू आफ यूनिटी तक कि यात्रा ट्रेन से की जायेगी।

हर कोच में लगा होगा वाटर लेवल इंडिकेटर

सीनियर इंजीनियर संजय कुमार ने बताया ट्रेन का पेंट्रीकार में गैस की जगह इंविल्ड इलेक्ट्रिक ओवन लगे है। जनरल कोच में सीटों के बीच काफी जगह के साथ मोबाइल चार्जिंग की सुविधा भी होगी। चार जनरल कोच, आठ शयनयान कोच, दो तृतीय, दो द्वितीय और एक प्रथम श्रेणी का वातानुकूलित कोच होगा।

LHB कोच की खासियत

LHB ( Linke Hofmann Busch ) कोच पहले राजधानी, शताब्दी जैसे ट्रेन में लगती थी। इसमें मेंटेनेंस कम होता है। सीटों के बीच जगह अच्छी होती है। वाटर सिस्टम अपग्रेड होता है। जर्क भी बैठे यात्री को कम लगता है। विंडो सिस्टम जनरल से लेकर हर बोगियों का लेटेस्ट होता है। जो पहले की अपेक्षा हल्का होता है। स्मोक डिटेक्टर के साथ बोगियों को अग्नि निरोधक बनाया गया है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here