श्मशान में हादसा टला: ललितपुर में छत डालने से पहले ही गिरी श्मशान घाट की बीम; बाल-बाल बचे मजदूर, DM के आदेश पर ठकेदार समेत 3 लोगों पर FIR दर्ज

43


  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Jhansi
  • The Beam Of The Cremation Ground Collapsed Before It Was Lintered In Lalitpur; Child Labor Survivors, DM Gave Instructions For Investigation

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

झांसी8 घंटे पहले

निर्माणाधीन श्मशान घाट की बीम वजन नहीं सह सकीं और टूटकर गिर गई। इस हादसे के दौरान कई मजदूर बाल-बाल बच गये।

  • जिला पंचायत द्वारा विकास खण्ड महरौनी के थाना सौजना के ग्राम गौना में सामने आया मामला

ललितपुर जिले के गौना गांव में निर्माणाधीन श्मशान घाट की बीम वजन नहीं सह सकीं और टूटकर गिर गई। इस हादसे के दौरान कई मजदूर बाल-बाल बच गये। वहीं जिलाधिकारी दिनेश कुमार ने कहा है कि मामले की जांच कराई जा रही है। दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस मामले में ठेकेदार समेत तीन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

इस मामले में जिलाधिकारी अन्नावि दिनेश कुमार के आदेश पर थाना बानपुर के पाय गांव के ठेकेदार प्रमोद कुमार पर मानकहीन कार्य कराए जाने के चलते श्मशान की बीम टूटने व अपर अभियंता आंनद नारायण व अभियन्ता मोती लाल द्वारा कार्य में लापरवाही बरतने के मामले में एफआईआर दर्ज कराई गई है। थानाध्यक्ष सौजना सुरेश कुमार ने बताया कि रात में ही एफआईआर दर्ज कर ली गई थी ।

जानकारी के अनुसार, महरोनी विकासखंड के सजौना थाना स्थित गौना गांव में जिला पंचायत 8 लाख 69 हजार की लागत से श्मशान घाट का निर्माण करा रहा है। ग्रामीण साहब सिंह ने बताया कि 1 जनवरी को दोपहर में जब श्मशान घाट में छत डाले जाने के लिए रेंडिंग डाली जा रही थी तभी बीम टूट कर गिर गई।

बाल-बाल बचे मजदूर

हादसे के दौरान वहां काम कर रहे कई मजदूर बाल-बाल गच गये। इसके बाद रातोंरात ठेकेदार द्वारा मटेरियल हटवाने का प्रयास किया गया। उधर, पूरे मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इसके बाद अपर मुख्य अधिकारी संतोष कुमार सिंह ने अभियन्ता मोतीलाल को मौके पर भेजा। साथ ही उन्होंने जूनियर इंजीनियर और ठेकेदार से स्पष्टीकरण भी मांगा है। उधर, जांच कर लौटे अभियन्ता मोतीलाल ने बताया कि रेंडिंग के दौरान बीम टूटी है। वहीं, जिला विकास अधिकारी अनिल कुमार ने खंड विकास अधिकारी महरोनी को जांच के लिए भेजा गया है।

3 जनवरी को श्मशान घाट की गैलरी गिरने से 25 लोगों की हुई थी मौत

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में छह दिन पहले तीन जनवरी को श्मशान घाट की गैलरी गिरने से 25 लोगों की मौत हो गई थी। यहां मुरादनगर के श्मशान में 100 से अधिक लोग एक बुजुर्ग के अंतिम संस्कार के लिए पहुंचे थे। ये सभी बारिश से बचने के लिए छत के नीचे खड़े थे। जिस शख्स का दाह संस्कार चल रहा था, हादसे में उनके एक बेटे की भी मौत हुई थी।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here