वैश्य महाकुंभ में लोकसभा अध्यक्ष: अलीगढ़ में ओम बिड़ला ने कहा- सर्वांगीण विकास के लिए सभी काम करेंगे तो देश मजबूत होगा

29


  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Agra
  • Om Birla In Aligarh Latest News Updates । Lok Sabha Speaker Om Birla Reached In Vaishya National Session In Aligarh Uttar Pradesh

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अलीगढ़31 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अलीगढ़ में राष्ट्रीय अधिवेशन में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला।

  • अलीगढ़ में अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद ने आयोजित किया राष्ट्रीय अधिवेशन
  • तय समय से साढ़े तीन घंटे देरी से पहुंचे लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने आज अलीगढ़ में अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद के राष्ट्रीय अधिवेशन में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए। इस मौके पर ओम बिड़ला ने कहा कि सभी अपने अपने समाज के सर्वागीण विकास के लिए काम करेंगे तो हमारा देश मजबूत होगा और सभी समाज आगे बढ़ेंगे और देश आगे बढ़ेगा। हमारे संस्कार ऐसे होने चाहिए कि हम संपूर्ण समाज को जोड़ने का काम करें। इस कार्यक्रम में लोकसभा अध्यक्ष अपने तय कार्यक्रम से करीब साढ़े तीन घंटे देरी से पहुंचे तो उन्होंने अपने संबोधन से पहले सभी से माफी मांगी।

नए भारत के निर्माण सभी का सहयोग जरूरी

ओम बिड़ला ने कहा कि इस देश के अंदर वैश्य समाज का राष्ट्र निर्माण में बहुत व्यापक योगदान रहा है। चाहे आजादी की लड़ाई हो चाहे आजादी के बाद नए भारत के निर्माण की बात हो। पहले राजाओं के भी राज में भी जब राजा युद्ध लड़ते थे अपने राज को बचाने के लिए उस समय राजाओं के पास भी धन की कमी हो जाती थी तो भामाशाह की तरह आप लोग सहयोग देते थे। आज भी यही संस्कार हैं। आज वही विचार हैं। नए भारत में निर्माण में अगर सहयोग करना है तो सब को सामूहिक रूप से सहयोग करना होगा।

संपूर्ण जातियों के निर्माण को आगे ले जाना हमारा संकल्प

भारत के संस्कार वसुदेव कुटुंबकम के आधार पर हैं। यदि कोई समस्या होगी तो हम सामूहिक रूप से उसका मुकाबला करेंगे। हम इस देश के अंदर तोड़ने का काम नहीं करेंगे। जब हमारे पूर्वजों ने यह जाति धर्म के आधार पर समाज को खड़ा किया उस समय एक विचार था कि सब समाज अपने अपने समाज को विकास की ओर आगे ले जाएगा। हमारा किसी तरीके से जातियों से जातियों को लड़ाना या जातियों के आधार पर समाज का निर्माण होना नहीं है। संपूर्ण जातियों के निर्माण को आगे का काम करना है। अगर जातियों के आधार पर हम एक नया संघर्ष खड़ा कर देंगे तो हमारे देश की एकता को तोड़ने का काम होगा।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here