लाल खून का काला कारोबार: ब्लड बैंक के कर्मी पर फिर लगा खून के बदले 1 हजार मांगने का आरोप

39


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सहरसाकुछ ही क्षण पहले

  • कॉपी लिंक

सदर अस्पताल परिसर में ब्लड बैंक पर जहां गुरुवार को लाल खून के काले कारोबार का गंभीर आरोप लग चुका है और इसपर अब सीएस ने भी संज्ञान ले लिया है पर शुक्रवार को अखिल भारतीय (भगैत भारत) महासभा के राष्ट्रीय सभापति सह संचालक अशोक मानव ने ब्लड के बदले एक हजार रुपए मांगने का गंभीर आरोप ब्लड बैंक कर्मी जगरनाथ पाठक पर लगा जिलाधिकारी सहित कई अन्य वरीय पदाधिकारी को आवेदन सौंपा है।

उन्होंने बताया कि बीते 3 फरवरी की रात में पत्नी पूनम देवी, सराही वार्ड नंबर 4 को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया था। फिर 4 फरवरी को उनके शरीर में मात्र 6 ग्राम खून की बातें जांच में सामने आई। जिसके कारण खून चढ़ाना आवश्यक बताया गया। ऐसे में वे ब्लड बैंक पहुंचे। ब्लड बैंक में स्टाफ ड्यूटी पर जगरनाथ पाठक नियुक्त थे। उन्होंने एक फॉर्म दिया।

साथ ही फाइल भी दिया। उन्होंने वार्ड में नियुक्त सिस्टर से खून का सैंपल लाने को कहा। लेकिन वार्ड में नियुक्त दीदी खून का सैंपल के लिए उन्हें ही बुलाने की बातें कही। उनसे सैंपल लेने का आग्रह किया तो उन्होंने जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करते हुए खून का सैंपल लेने से इंकार कर दिया।

जिसके बाद उनसे एक हजार की मांग की गई। लेकिन जिसे देने से उन्होंने इनकार किया। ऐसे में थक हार कर उन्होंने सदर अस्पताल से अपनी पत्नी को निजी नर्सिंग होम ले जाकर भर्ती कराया। जहां उनका इलाज हुआ। अब वे ब्लड बैंक के कर्मी पर कार्रवाई की लगा रहे हैं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here