बर्ड फ्लू को लेकर अलर्ट: मध्यप्रदेश और राजस्थान समेत 5 राज्यों में 85 हजार पक्षियों की मौत, जानिए आप कैसे रहें सावधान

30


  • Hindi News
  • National
  • Bird Flu Outbreak Latest Update | Migratory Birds, Crows Found Dead In Haryana, Rajasthan Punjab And Himachal Pradesh

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली16 दिन पहले

  • कॉपी लिंक

सवाई माधोपुर में पीपीई किट पहनकर मृत कौए का सैंपल लेता कर्मचारी। सही तरीका भी यही है। कई जगह सिर्फ मास्क और ग्लव्स पहनकर सैंपल लिए जा रहे हैं। इस पर विभाग का तर्क है कि जहां पीपीई किट उपलब्ध नहीं है, सिर्फ वहीं ऐसा हो रहा है।

कोरोना महामारी के बीच अब बर्ड फ्लू की दस्तक चिंता बढ़ा रही है। अब तक हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, मध्यप्रदेश, राजस्थान, गुजरात और केरल में 84 हजार 775 पक्षियों की मौत हुई है। इनमें से हिमाचल प्रदेश, मध्यप्रदेश, राजस्थान और केरल में बर्ड फ्लू की पुष्टि हो चुकी है, हरियाणा और गुजरात के सैंपल की रिपोर्ट आना बाकी है।

मध्य प्रदेश: दो जिलों में बर्ड फ्लू की पुष्टि, पूरे प्रदेश में अलर्ट
मध्य प्रदेश में अब तक 200 से ज्यादा पक्षियों की मौत हो चुकी है। इंदौर, मंदसौर, आगर, खरगोन, उज्जैन, देवास, नीमच और सीहोर में कौए मृत मिले हैं। इनमें इंदौर और मंदसौर की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। सभी जिलों को अलर्ट किया गया है।

हिमाचल: अब तक 2000 से ज्यादा पक्षियों की मौत
हिमाचल प्रदेश के पौंग डैम वेटलैंड में मृतक पक्षियों का आंकड़ा 2000 के पार हो गया है। यहां पहला मामला 28 दिसंबर 2020 को सामने आया था। बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद यहां पौंग डैम के आसपास एक किलोमीटर का क्षेत्र रेड जोन और नौ किलोमीटर का क्षेत्र सर्विलांस जोन बनाया गया है।

राजस्थान: अब तक 522 पक्षियों की मौत
राजस्थान में अब तक 471 कौओं समेत 522 पक्षियों की मौत हो चुकी है। सोमवार को छह जिलों में 140 कौओं की मौत हुई। पशुपालन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि राजस्थान में बर्ड फ्लू से हुई मौतों में कम पावर का स्ट्रेन मिला है, जो ज्यादा घातक नहीं है।

केरल: दो जिलों में 50 हजार बतखों को मारने का आदेश
केरल के अलप्पुझा और कोट्टायम जिलों में बर्ड फ्लू के मामलों की पुष्टि हुई है। यहां 50 हजार बतखों को मारने का आदेश दिया गया है। राज्य के वन, पशुपालन मंत्री के. राजू ने कहा, ‘जहां संक्रमण का पता चलेगा, वहां करीब 1 किलोमीटर के दायरे में सभी पक्षियों को मार दिया जाएगा। राज्य में बर्ड फ्लू से करीब 12 हजार बतखों की मौत पहले ही हो चुकी है।

हरियाणा: दो दिन में दो फार्म में 70 हजार से अधिक मुर्गियों की मौत
पंचकूला के बरवाला के रायपुररानी क्षेत्र में पिछले दो दिन में दो फार्म में ही 70 हजार से ज्यादा मुर्गियों की मौत हुई है। फार्मों से लिए गए मृत मुर्गियों के सैंपल की जांच रिपोर्ट अब तक नहीं आई है। सूत्रों का कहना है कि महीनेभर पहले ही कुछ पोल्ट्री फार्म में बीमारी आने लगी थी। तब यहां से मुर्गियों को कहीं दूसरी जगह बेच दिया था। प्रशासन की मिलीभगत से मामला दबा दिया गया था।

गुजरात: जूनागढ़ में 53 पक्षियों की मौत
गुजरात के जूनागढ़ जिले के बांटवा गांव में 2 जनवरी को बतख-टिटहरी-बगुला समेत 53 पक्षी मृत पाए गए। इनकी जांच की जा रही है। गुजरात के प्रिंसिपल चीफ कंजर्वेटर ऑफ फॉरेस्ट (वाइल्ड लाइफ) श्यामल टीकादार ने बताया कि बर्ड फ्लू की आशंका है, इसलिए अलर्ट किया गया है।

देश में पहली बार एक ही लैब में इंसान और पक्षियों के सैम्पल जांचे जा रहे
भोपाल के आनंद नगर स्थित हाई सिक्योरिटी एनिमल डिसीज लैबोरेटरी में पांच वैज्ञानिकों की टीम पक्षियों के सैम्पल जांचने में जुटी है। यहां कोरोना के सैम्पल भी जांचे जा रहे हैं। ऐसा पहली बार हो रहा है, जब इस लैबोरेटरी में एक ही समय में इंसान और पक्षियों के सैम्पल टेस्ट किए जा रहे हैं।

कोरोना जैसे ही बर्ड फ्लू के सिंप्टम्स
बर्ड फ्लू होने पर कफ, डायरिया, बुखार, सांस से जुड़ी दिक्कत, सिर दर्द, पेशियों में दर्द, गले में खराश, नाक बहना और बेचैनी जैसी समस्या हो सकती हैं। ऐसा होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

कौओं से ज्यादा खतरा
एवियन इन्फ्लूएंजा या एवियन फ्लू को बर्ड फ्लू कहते हैं। यह मृत या जिंदा पक्षियों से इंसानों में फैल सकता है। संक्रमित पक्षी को खाने या संक्रमित पानी पीने से यह रोग फैलता है। कौए सभी जगह आसानी से पहुंच जाते हैं, इसलिए उससे सबसे ज्यादा खतरा रहता है।

बचाव के तरीके
संक्रमित पक्षियों से दूर रहें। मरे पक्षियों के पास बिल्कुल न जाएं। नॉनवेज न खाएं। अगर खाना ही है तो नॉनवेज खरीदते समय साफ-सफाई का ध्यान रखें। संक्रमण वाले इलाकों में न जाएं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here