प्रियंका चोपड़ा का खुलासा: एक बड़े डायरेक्टर ने कहा था एक्ट्रेस बनना है तो ब्रेस्ट समेत शरीर के तीन अंगों की सर्जरी कराओ

35


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

18 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

प्रियंका चोपड़ा इन दिनों अपने मेमॉयर ‘अनफिनिश्ड’ को लेकर चर्चा में हैं, जो 9 फरवरी को लॉन्च होना है। इस किताब में उन्होंने अपनी पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ से जुड़े कई खुलासे किए हैं। इनमें से एक किस्सा उस बड़े डायरेक्टर-प्रोड्यूसर के बारे में भी है, जिससे वे सबसे पहले मिली थीं। उसने उन्हें ब्रेस्ट समेत शरीर के तीन अंगों की सर्जरी कराने की सलाह दी थी।

‘डायरेक्टर ने घूमने को कहा और घूरता रहा’

प्रियंका के मुताबिक, यह घटना तब की है, जब साल 2000 में मिस वर्ल्ड का खिलाब जीतने के बाद वे एक्टिंग की दुनिया में कदम रख रही थीं। एक्ट्रेस ने लिखा है, “कुछ मिनट की छोटी सी बातचीत के बाद उस डायरेक्टर/प्रोड्यूसर ने मुझे खड़ी होने और घूमने के लिए कहा। मैंने ऐसा ही किया। उसने मुझे देर तक घूरा और सलाह दी कि मुझे अपने ब्रेस्ट, जबड़े और बट की सर्जरी करानी चाहिए।”

“अगर मुझे एक्ट्रेस बनना है तो मुझे अपना प्रपोर्शन फिक्स कराना होगा। उसने यह भी कहा कि वह लॉस एंजिलिस के एक अच्छे डॉक्टर को जानता है और मुझे वहां भेज सकता है। उस वक्त जो मेरा मैनेजर था, उसने भी उसकी हां में हां मिलाई। बाद में मैंने अपने उस मैनेजर से भी रास्ता अलग कर लिया।”

प्रियंका ने पहले क्यों नहीं की इस बारे में बात?

प्रियंका ने पहले कभी इस बारे में बात क्यों नहीं की? इसकी वजह उन्होंने एक मैगजीन को दिए इंटरव्यू में बताई। प्रियंका के मुताबिक, वे मनोरंजन के बिजनेस में हैं, जहां मजबूत होने की जरूरत होती है। अगर कोई आर्टिस्ट कमजोर पड़ जाता है तो लोग उसे नीचा दिखाने लगते हैं।

प्रियंका के मुताबिक, उन्होंने कभी खुद को नीचे नहीं गिरने दिया। वे उन सभी बातों को नजरअंदाज कर अपना काम करती रहीं, जिनसे वे परेशान हो चुकी थीं या बाहर निकल चुकी थीं। प्रियंका ने बताया कि उनकी किताब ‘अनफिनिश्ड’ किसी तरह की सफाई नहीं देती। यह उनकी कहानी है, जिसे उन्होंने अपने ही नजरिए से देखा है।

प्रियंका ने सोशल मीडिया पर बयां किया दर्द

प्रियंका ने सोशल मीडिया पर एक ऑडियो नोट भी शेयर किया है। इसमें वे कह रही हैं, “मेरा करियर एक ऐसा करियर है, जो मेरी शारीरिक बनावट पर ज्यादा आधारित है। ऐसा लगा था जैसे यह शुरू होने से पहले ही खत्म हो गया था। मुझे लगा जैसे स्वर्ग का एक दरवाजा खोल दिया गया और फिर मेरे चेहरे पर पटक दिया गया हो। और इससे तकलीफ हुई थी।”



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here