पाकिस्तान में विपक्ष की महारैली: बिलावल भुट्‌टो बोले- इमरान खान ने नए पाकिस्तान का वादा किया था, पर यह महंगा पाकिस्तान निकला

33


  • Hindi News
  • International
  • Pakistan Imran Khan| Pakistan Opposition Leaders To Hold Rally In Hyderabad Against Imran Khan Government.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इस्लामाबाद3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

एक अनुमान के मुताबिक, इस रैली में 4 लाख लोग पहुंचे। इसे सिंध प्रांत में हुई सबसे बड़ी रैली माना जा रहा है।

पाकिस्तान में प्रधानमंत्री इमरान खान का इस्तीफा मांग रहे 10 विपक्षी दलों के गठबंधन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक फ्रंट (PDM) ने मंगलवार को बड़ी रैली की। यह रैली सिंध प्रांत के हैदराबाद में की गई। विपक्ष का आरोप है कि इमरान के दौर में मुल्क तबाह हो गया है।

रैली में पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) के चीफ बिलावल भुट्‌टो ने कहा कि चुनाव के दौरान इमरान खान ने नया पाकिस्तान बनाने का वादा किया था। अब यह महंगे पाकिस्तान में बदल गया है। विपक्ष ने सरकार और सेना के गठजोड़ पर भी सवाल उठाया है। उन्होंने आरोप लगाया था कि सेना रैली में अड़ंगा लगा रही है। इस पर सेना ने कहा कि विपक्ष हमें सियासत में न घसीटे। इमरान भी इस्तीफे से इनकार कर चुके हैं।

ऐतिहासिक रैली होने का दावा
सिंध में पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की सरकार है। यहां के हैदराबाद की सड़कों पर 3 दिन से बेतहाशा जाम लग रहा है। एक अनुमान के मुताबिक, रैली में 4 लाख से ज्यादा लोग शामिल हुए। माना जा रहा है कि यह इस शहर में किसी पार्टी या गठबंधन की सबसे बड़ी रैली है। सिंध के चीफ मिनिस्टर सैयद मुराद अली शाह ने कहा कि 10 पार्टियां इस रैली में शामिल हुईं।

तमाम विपक्षी नेता मौजूद होंगे
बिलावल भुट्टो जरदारी के अलावा रैली में पाकिस्तान डेमोक्रेटिक फ्रंट के नेता मौलाना फजल-उर-रहमान मौजूद रहे। PML-N की उपाध्यक्ष पूर्व PM नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज बेटी की सर्जरी की वजह से रैली में शामिल नहीं हुईं।

विपक्ष की एकजुटता ने सरकार की मुश्किलें पहले ही बढ़ा दी हैं। विपक्षी दलों ने साफ कर दिया है कि अब सर्दी कम हो रही है और सरकार के खिलाफ आंदोलन तेज किया जाएगा। 26 मार्च से इस्लामाबाद में मार्च शुरू किया जाएगा। इसमें देश भर से लोग शामिल होंगे।

सेना पर सरकार से मिलीभगत का आरोप
पाकिस्तान में सेना पर आरोप लग रहे हैं कि वो इमरान खान सरकार को बचाने के लिए विपक्षी दलों और उनके कार्यकर्ताओं पर जुल्म ढा रही है। कई लोगों को गैरकानूनी तरीके से हिरासत में लिया गया है। हालांकि सेना के प्रवक्ता ने सोमवार रात कहा कि हमारा काम मुल्क की हिफाजत करना है। हमें सियासत में घसीटने की कोशिश न करें। हम पहले भी साफ कर चुके हैं और अब भी यही कह रहे हैं कि हमारा लोकतंत्र में यकीन है, लेकिन सियासी मामलों में हम दखल नहीं देते।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here