नए साल से पहले पसरा मातम: आगरा में 8 बच्चे मिट्टी गिरने में दबे, 3 की मौत; JCB से निकाला गया

41





उत्तर प्रदेश में आगरा जिले के सिकंदरा थाने के रुनकता पुलिस चौकी के पीछे नगरा बस्ती में गुरुवार की शाम बड़ा हादसा हो गया। मिट्टी गिरने से कई बच्चे उसके नीचे दब गई। चीखपुकार मची तो ग्रामीणों ने पहले अपने स्तर से बच्चों को बाहर निकालना शुरू किया। उसके बाद जेसीबी से खुदाई कराई गई। कुल आठ बच्चों को निकाला गया, इनमें से तीन की मौत हो चुकी थी। अन्य का इलाज चल रहा है।

ग्राम प्रधान द्वारा पुराने तलाब की खुदाई का काम कराया जा रहा है। तीन दिन पहले काम शुरू हुआ था। जेसीबी मशीन से खुदाई चल रही है। इस कारण वहां जमीन पतली हो गई है। गुरुवार को खुदाई का काम बंद था। गांव के एक दर्जन से अधिक बच्चे तालाब वाली जगह पर खेलने गए थे। अचानक मिट्टी भरभराकर गिर गई।

आठ बच्चे मिट्टी में दब गए थे

मोहल्ले की एक महिला ने अपनी आंखों से यह नजारा देखा। महिला ने शोर मचाया। देखते ही देखते बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर आ गए। राहत कार्य में जुट गए। सूचना ने पुलिस के भी होश उड़ा दिए। कई थानों का फोर्स मौके पर आ गया।

घायलों को नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया

जैसे-जैसे बच्चे मिलते गए उन्हें बाहर निकाला गया। इलाज के लिए हाईवे स्थित दो नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया। एक बच्चे ने मौके पर ही दम तोड़ दिया था। एक बच्ची सहित दो की इलाज के दौरान मौत हुई। मिट्टी के नीचे दबने से ऑक्सीजन लेबल बहुत कम हो गया था। जो एंबुलेंस मौके पर पहुंची उसमें सभी बच्चों को ऑक्सीजन देने की सुविधा नहीं थी।

एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद ने बताया कि हादसे में राधा (10) पुत्री जितेंद्र, सोनल (6) पुत्र हरिओम और दक्ष (5) पुत्र कप्तान की मौत हो गई। तीनों के शव पोस्टमार्टम हाउस पर भेजे गए हैं। कप्तान के बेटे अनिकेत, देव पुत्र दीपक,सारिक पुत्र जितेंद्र का अस्पताल में इलाज चल रहा है। अंशु पुत्र पप्पू की हालत ठीक थी। उसे प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


यूपी में आगरा के रुनकता में मिट्‌टी धंसने से आठ बच्चे दब गए। मशीन की मदद से सभी लोगों को बाहर निकाला गया जिसमें तीन बच्चाें की मौत हो गई।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here