दिलीप कुमार के भतीजे का दावा: ट्रेजेडी किंग के दिल से कभी कम नहीं हुआ पेशावर का लगाव, यहां के लोगों को तोहफे में देना चाहते थे अपनी हवेली

31


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

पाकिस्तान में रह रहे दिलीप कुमार के एक रिश्तेदार ने दावा किया है कि ट्रेजेडी किंग अपनी पेशावर वाली हवेली शहर के लोगों को तोहफे में देना चाहते थे। रिपोर्ट्स में फुआक इशाक नाम के ये शख्स दिलीप कुमार के भतीजे बताए जा रहे हैं, जो सरहद चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष हैं। फुआक ने एक इंटरव्यू में कहा कि प्रॉपर्टी के कानूनी अधिकार उनके पास हैं।

‘दिलीप साहब के दिल पेशावर का लगाव कभी कम नहीं हुआ’

फुआक ने कहा कि दिलीप साहब पेशावर के लोगों का बहुत सम्मान करते हैं। यही वजह है कि वे अपनी पैतृक हवेली यहां की जनता को देना चाहते थे। उनके दिल से कभी पेशावर को लेकर प्यार और लगाव कभी कम नहीं हुआ। फुआक ने आगे बताया कि हवेली की प्रॉपर और लीगल पावर ऑफ अटर्नी उनके पास है। उन्होंने दावा किया कि 98 साल के दिलीप कुमार ने 2012 में यह पावर ऑफ अटर्नी कराई थी।

1922 में यही हुआ था दिलीप कुमार का जन्म

पिछले सप्ताह दिलीप कुमार के पेशावर बेस्ड प्रवक्ता ने पत्रकारों को बताया था कि दिलीप कुमार हमेशा अपने जन्मस्थान और मोहल्ला खुदादाद स्थित अपने पैतृक घर की खूबसूरत यादों के बारे बात करते हैं। 1922 में दिलीप कुमार का यहां जन्म हुआ था और 1935 में उनका परिवार भारत शिफ्ट हो गया था।

सरकारी रेट पर हवेली नहीं बेचना चाहता मौजूदा मालिक

पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में स्थित इस हवाली को सरकार ने सरकारी रेट पर बेचने का प्रस्ताव दिया था, जिसे इसके मौजूदा मालिक ने ठुकरा दिया। हवेली करीब 101 वर्गमीटर में फैली हुई है और प्रांतीय सरकार ने इसकी कीमत 80.56 लाख रुपए लगाई थी।

हवेली के मौजूदा मालिक हाजी लाल मोहम्मद ने इसके लिए 25 करोड़ रुपए की मांग की है। हाजी लाल मोहम्मद का तर्क है कि उन्होंने 2005 में यह हवेली 51 लाख रुपए में खरीदी थी। ऐसे में 16 साल बाद इसकी कीमत 80.56 लाख रुपए लगाना नाइंसाफी है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here