जीत के बाद शास्त्री बोले: टीम इंडिया तीसरे टेस्ट में भी पांच बॉलर्स के साथ उतरेगी; रोहित कल टीम के साथ जुड़ेंगे

32


  • Hindi News
  • Sports
  • Ravi Shastri; Ravi Shastri Reaction After India Wins Over Australia In Melbourne

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मेलबर्नएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया टेस्ट में मेलबर्न टेस्ट में 8 विकेट से हराया। उन्होंने टीम के गेंदबाजों की तारीफ की और कहा कि टीम 5 गेंदबाजों की रणनीति के तहत ही आगे के मैच में भी उतरेगी।

मेलबर्न टेस्ट में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से हराकर चार टेस्ट मैचों की सीरीज में 1-1 से बराबर कर ली। टीम इंडिया की इस जीत में गेंदबाजों का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। पहली पारी में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 195 रन पर और दूसरी पारी में 200 रन रोका था। भारत इस टेस्ट में 5 गेंदबाजों के साथ उतरा था। टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने संकेत दिया है कि वह तीसरे टेस्ट में भी वह पांच गेंदबाजों के साथ ही उतरेंगे। शास्त्री ने जीत के बाद कहा- हम लोग 5 गेंदबाजों की रणनीति के साथ ही उतरेंगे। रोहित शर्मा टीम के साथ कल जुड़ जाएंगे। यह देखना होगा कि क्वारैंटाइन के बाद वह कैसा महसूस कर रहे हैं।
दूसरे टेस्ट में भारत ने तीन पेस और 2 स्पिनर्स के साथ उतरा
मेलबर्न टेस्ट में टीम इंडिया ने 3 पेस और 2 स्पिनर्स के साथ उतारा था। उमेश यादव, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद सिराज ने जहां पेस की जिम्मेदारी संभाली वहीं आर अश्विन और रविंद्र जडेजा ने स्पिन की जिम्मा संभाला था। हालांकि उमेश यादव चोटिल हो गए थे। उससे पहले उन्होंने दूसरी पारी में 1 विकेट भी लिया। वहीं सिराज और अश्विन ने जहां दोनों पारियों में 5- 5 विकेट लिए। जबकि बुमराह ने 6 विकेट लिए। वहीं जडेजा ने 3 विकेट के साथ 57 रन भी बनाए।
शास्त्री ने कहा- सबसे बड़ा कम बैक
जीत के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कोच शास्त्री ने कहा कि यह टेस्ट इतिहास के सबसे बड़े कमबैक्स में से एक है। उन्होंने कहा, “मेरी समझ से इस टेस्ट को एक उदाहरण के तौर पर देखा जाएगा। यह निश्चित तौर पर टेस्ट इतिहास के सबसे बड़े कमबैक्स में से एक है। तीन दिन पहले तक 36 रन पर ऑलआउट हो गई थी। जिसकी वजह से टीम की आलोचना की जा रही थी और टीम को कमजोर समझा जा रहा था।”

शास्त्री ने आगे कहा-एडिलेड की हार ने हमें कई सकारात्मक बातें सिखाईं। अंत में परिणाम अगर अनुकूल होता है,तो सब अच्छा होता है। हमने एकतरफा अंदाज में यह मैच जीता और यह हमारी मेहनत का नतीजा है,क्योंकि आस्ट्रेलिया में एक दिन या एक सत्र में अच्छा करने से जीत नहीं मिलती। आपको यह मानकर चलना होता है कि आप पांचों दिन अच्छा खेलकर ही ऐसी टीम को उसके घर में हरा सकते हैं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here