कैसे बदली नटराजन की किस्मत: IPL2020 के दौरान डेविड वॉर्नर की कप्तानी में संवरे, अब सिडनी टेस्ट में उन्हीं के खिलाफ उतरने को तैयार

31


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सिडनीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

यूएई में पिछले साल हुई IPLमें डेविड वॉर्नर की कप्तानी में यॉर्कर स्पेशलिस्ट के रूप में पहचान बनाने वाले टी नटराजन सिडनी टेस्ट में उनके खिलाफ उतर सकते हैं। IPL में बेहतर प्रदर्शन के बाद उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे और टी-20 सीरीज के लिए टीम में शामिल किया था। हालांकि उन्हें टेस्ट टीम में जगह नहीं दी गई थी। परंतु वनडे और टी-20 में उन्होंने अपने यॉर्कर से टीम मैनेजमेंट को प्रभावित किया। जिसके बाद उन्हें वनडे और टी-20 सीरीज के खत्म होने के बाद टेस्ट टीम के साथ ऑस्ट्रेलिया में ही रोक लिया गया था। वे टेस्ट टीम के साथ बतौर नेट बॉलर के रूप में शामिल थे। लेकिन पेसर मोहम्मद शमी और उमेश यादव के चोटिल होने के बाद उन्हें तीसरे और चौथे टेस्ट के लिए टेस्ट टीम में शामिल किया गया है। साथ ही वे शार्दुल ठाकुर के साथ तीसरे टेस्ट में खेलने के प्रबल दावेदार हैं।
IPLमें 60 बॉल यॉर्कर डाले
उन्होंने सनराइजर्स हैदराबाद की ओर से खेलते हुए 60 गेंदे यॉर्कर डाले थे। 16 मैचों में 8.02 की इकोनॉमी रेट से 16 विकेट लिए। हालांकि नटराजन ने IPLमें अपना डेब्यू मैच 2017 में किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से खेला था। पंजाब ने उन्हें 3 करोड़ में खरीदा था। उनका बेस प्राइज 10 लाख रुपए था। उन्होंने 6 मैचों में 2 विकेट मिले थे।

उसके बाद उन्हें 3 साल बाद फिर खेलने का मौका मिला। हालांकि उन्हें 2018 में सनराइजर्स हैदराबाद ने अपने साथ जोड़ा था। परंतु उन्हें खेलने का मौका 2020 में हैदराबाद के कप्तान वॉर्नर ने दिया। IPLमें 22 मैच खेल चुके हैं। उन्होंने 8.19 इकोनॉमी रेट से 18 विकेट ले चुके हैं। वहीं वे 20 फर्स्ट क्लास मैचों में 3.02 की इकोनॉमी रेट से 64 विकेट ले चुके हैं।

डेब्यू वनडे में 2 और टी-20 में लिए 6 विकेट
नटराजन ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन वनडे मैचों की सीरीज के आखिरी मैच में डेब्यू किया। ऑस्ट्रेलिया ने शुरुआती दो वनडे मैच जीतकर वनडे सीरीज पर जमाया था। नटराजन ने अपने डेब्यू वनडे में 7.0 की इकोनॉमी रेट से दो विकेट लिए। इस मैच में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को हराया था। जबकि नटराजन ने अब तक खेले तीन टी-20 में 6.92 इकोनॉमी रेट से 6 विकेट लिए।

टी-20 के डेब्यू मैच में उन्होंने 4 ओवर में 30 रन देकर 3 विकेट लिए। इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 11 रन से हराया था। जबकि दूसरे टी-20 में उन्होंने 4 ओवर में 20 रन देकर 2 विकेट लिए। इस मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 6 विकेट से हराया था। वहीं तीसरे टी-20 में उन्होंने 4 ओवर में 33 रन देकर 1 विकेट लिए। इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने इंडिया को 12 रन से हराया था।

20 साल की उम्र तक टेनिस बॉल से खेले नटराजन 20 साल की उम्र तक टेनिस बॉल से खेले। बाद में उनके कोच जयप्रकाश के प्रयासों से तमिलनाडु के चौथे डिवीजन क्रिकेट में खेलने का मौका मिला। इसलिए नटराजन ने अपने कोच को सम्मान देने के लिए IPLके जर्सी पर जेपी नट्‌टू लिखवाया।
मां आज भी बेचती हैं चिकन
नटराजन बेहद गरीब परिवार से हैं। पिता मजदूरी करते हैं। जबकि उनकी मां सड़क के किनारे चिकन बेचती थी। वे आज भी चिकन बेचती हैं। उनका मानना है कि इसी से उनके परिवार को घर खर्च चलता था। नटराजन ने IPLमें खेलने के बाद अपने माता-पिता के लिए मकान बना चुके हैं। वे तमिलनाडु के सलेम जिला स्थित अपने गांव चिन्नामपट्‌टी में क्रिकेट शुरु की। जहां पर उनके दोस्त गांव के बच्चों को ट्रेनिंग देते हैं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here