कंगना पर एक और मुसीबत: पंजाब की 73 वर्षीय बुजुर्ग का एक्ट्रेस के खिलाफ मानहानि का केस, कंगना ने उन्हें 100 रु. में उपलब्ध बताया था

31


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

25 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

कंगना के खिलाफ केस दर्ज करने वाली मोहिंदर कौर (बाएं)। मोहिंदर कहती हैं कि हमारे खेतों में काम खत्म नहीं होते, ऐसे में 100 रुपए के लिए प्रदर्शनों में हिस्सा लेने क्यों जाऊंगी?

पहले से ही कई कानूनी उलझनों में फंसी कंगना रनोट के खिलाफ अब बठिंडा (पंजाब) में मानहानि की शिकायत दर्ज हुई है। यह शिकायत 73 साल की महिला मोहिंदर कौर ने दर्ज कराई है। कंगना ने किसान आंदोलन के दौरान उन्हें शाहीन बाग की बिलकिस बानो बताया था। शुक्रवार को मोहिंदर कौर के वकील रघबीर सिंह ने बताया कि कंगना के खिलाफ IPC की धारा 499 (मानहानि) और 500 (मानहानि की सजा) के तहत शिकायत दर्ज कराई गई है। कोर्ट इस पर 11 जनवरी को सुनवाई करेगा।

‘मानसिक तनाव झेलना पड़ा’
शिकायत में मोहिंदर कौर ने कहा कि एक्ट्रेस ने ट्वीट में मेरी तुलना एक अन्य महिला से कर गलत आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि मैं वही दादी हूं, जो शाहीन बाग के विरोध प्रदर्शनों में शामिल हुई थी। इस तरह के कमेंट का इस्तेमाल कर एक्ट्रेस ने साख और प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाया है।

दादी का दावा है कि कंगना के ट्वीट की वजह से उन्हें फैमिली मेंबर्स, रिश्तेदारों, पड़ोसियों, गांववालों और आम जनता की नजरों में मानसिक तनाव, दर्द, उत्पीड़न झेलना पड़ा। इसके बावजूद भी कंगना ने बिना शर्त माफी मांगने की जहमत तक नहीं उठाई।

कंगना ने क्या लिखा था अपनी पोस्ट में?
किसान आंदोलन के बीच कंगना ने मोहिंदर कौर से जुड़ी एक पोस्ट शेयर करते हुए लिखा था, ‘हाहाहा, यह वही दादी है, जिसे टाइम मैगजीन के कवर पर सबसे पावरफुल इंडियन बताया गया था। वह 100 रुपए में उपलब्ध है। पाकिस्तानी पत्रकारों ने भारत के लिए शर्मनाक तरीके से इंटरनेशनल पीआर को हाईजैक कर लिया है। हमें इंटरनेशनल लेवल पर बोलने के लिए अपने ही लोगों की जरूरत है।’

कंगना ने बिना नाम लिए मोहिंदर कौर को शाहीन बाग में सीएए और एनआरसी के विरोध में शामिल हुईं बिलकिस बानो बताया था। हालांकि, जब उन्हें ट्रोल किया गया तो उन्होंने अपनी यह पोस्ट डिलीट कर दी।

मोहिंदर कौर ने लगाई थी फटकार
कंगना की पोस्ट वायरल होने के बाद मोहिंदर कौर ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में कहा था, ‘कंगना क्या जानें कि खेती क्या होती है? वह कमली (पागल) है। उसने जो कुछ भी कहा, उस पर लानत है। कंगना को क्या पता कि किसान की कमाई क्या होती है। जब पसीना बहता है, खून गर्म होता है, तब कहीं पैसा आता है। किसानी से पैसा कमाना बहुत मुश्किल है। कंगना ने मुझ पर बहुत गलत तोहमत लगाई है।’

मोहिंदर ने यह भी कहा था कि हमारे खेतों में काम खत्म नहीं होते, ऐसे में 100 रुपए के लिए प्रदर्शन में शामिल होने क्यों जाऊंगी? कंगना ने जो कुछ कहा, वह गलत बात है। उन्होंने कंगना को गुरबानी का पाठ पढ़ाया और हिदायत दी थी कि कभी किसी के लिए गलत न बोलें।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here